Uncategorised

मुंबई : कृपाशंकर सिंह की पहल पर यूपी के सांसदों और महाराष्ट्र सरकार के बीच हुई वार्ता

संवाददाता : एसपी पांडेय
मुंबई। कोरोना संकट में जारी लॉकडाउन के बीच शनिवार को प्रवासी श्रमिकों के मुद्दे पर पहली बार उत्तर प्रदेश के सांसदों और महाराष्ट्र के गृहमंत्री के बीच अधिकृत वार्ता हुई। इससे पहले दोनों सरकारों के बीच जो भी विसंगतियां रही हो ; लेकिन शनिवार को बहुत ही सकारात्मक और सार्थक संवाद हुआ। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि प्रवासियों को पैदल नहीं जाने देंगे। मुंबई के जो प्रवासी अपने घर जाना चाहते हैं ,उनके जाने का प्रबंध करेंगे। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के चलते प्रवासी श्रमिकों की हालत बेहद दयनीय हो चुकी है। बेरोजगारी के चलते लोग पैदल, साईकिल, मोटरसाइकिल, ऑटो और टैक्सियों से यूपी पहुंचने लगे हैं । महाराष्ट्र के पूर्व गृह राज्यमंत्री तथा लोकप्रिय उत्तर भारतीय नेता कृपाशंकर सिंह ने जूम वीडियो ऐप पर प्रवासियों की समस्याओं को लेकर यूपी के सांसदों और महाराष्ट्र सरकार के बीच समन्वय स्थापित कराया । वार्ता में मुंबई में रह रहे उत्तर प्रदेश मूल के प्रवासियों की समस्याओं को सामने रखा गया। गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि शेल्टर होम में अब भी 3 लाख 71 हजार 310 मजदूर रह रहे हैं। जितनी जल्दी एनओसी मिलेगी , उतनी जल्दी उन्हें यहां से श्रमिक स्पेशल ट्रेन द्वारा उत्तर प्रदेश रवाना किया जाएगा। गृहमंत्री देशमुख ने औरैया में हुई श्रमिकों की मौत पर दुख जताया। इस वार्ता में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख, कृपाशंकर सिंह, प्रयागराज की सांसद रीता जोशी, मछली शहर के सांसद वीपी सरोज, गोरखपुर के सांसद रविकिशन, उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त पत्रकार समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी और मुंबई भाजपा के महामंत्री अमरजीत मिश्र के अलावा महानगर के वरिष्ठ पत्रकारों ने हिस्सा लिया। सांसद रीता जोशी ने कहा, सीएम योगी ने कोरोना संकट में अपनी पूरी शक्ति लगा दी है। 23 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में आज सिर्फ 4 हजार लोग संक्रमित हैं। पूरी दुनिया कह रही है कि संक्रमण में भारत ने अच्छा काम किया है। यूपी सरकार प्रवासियों के लिए गंभीर है।मछलीशहर के सांसद वी पी सरोज ने कहा कि महाराष्ट्र से आने वाली मजदूरों की संपूर्ण जिम्मेदारी हमारी है । हम उनके भोजन ,आवास तथा रोजगार के प्रति पूरी तरह से गंभीर हैं। गोरखपुर के सांसद फिल्म अभिनेता रवि किशन ने कहा कि देश के रचनात्मक विकास में अहम भूमिका निभाने वाले मजदूरों की हरसंभव मदद तथा उन्हें पुनः पूरी ताकत के साथ खडा करना हमसब की नैतिक जिम्मेदारी है।उन्होंने कहा कि योगी सरकार मजदूरों की भलाई तथा सुनहरे भविष्य के प्रति संकल्पित है । गृहमंत्री देशमुख ने बताया कि महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा प्रवासी श्रमिक यूपी के हैं। अब तक यूपी के विभिन्न जिलों के लिए 117 श्रमिक विशेष ट्रेनें भेजी जा चुकी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button