Uncategorised

मुम्बई : कोरोना वारियर्स के रूप में अपना कर्तव्य निभा रही है सैनिक सिक्योरिटी

संवाददाता : एसपी पांडेय

मुंबई : पूरे विश्व के साथ-साथ भारत मेंं भी कोरोना का कहर सिर चढकर बोल रहा है। महाराष्ट्र कोरोना का हाट स्पाट बना हुआ है, जिससे सटे मीरा-भायंदर में भी कोरोना पीडितों का आंकड़ा करीब डेढ सौ तक पहुंच गया है। शहर के नागरिक कोरोना वायरस के हो रहे प्रादुर्भाव से मौत के साये में जीने को विवश हैं। ऐसी विकट परिस्थितियों में मीरा-भायंदर महानगरपालिका व ठाणे ग्रामीण पुलिस प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सैनिक सिक्योरिटी के कर्मचारी भी कोरोना वारियर्स (योद्धा) के रूप में अपना अहम योगदान दे रहे हैं। जिसकी सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है। विदित हो कि मीरा-भायंदर शहर में सुव्यवस्था बनाये रखने के लिए सैनिक सिक्योरिटी के कर्मचारी मनपा इमारत, होटल, अतिक्रमण विभाग के अलावा ट्रैफिक व्यवस्था जैसे विभागों में सुरक्षा रक्षक के रूप में कार्य कर रहे हैं। वर्तमान में मीरा-भायंदर शहर में कोरोना विषाणु के प्रादुर्भाव में वृद्धि होती देखी जा रही है। जिससे शहरवासियों में भय का वातावरण है। इस विकट परिस्थितियों में भी लोग अति आवश्यक सेवा से जुड़ी सामग्री खरीदी करने के लिए बाहर निकलते हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य विभाग तथा केंद्र व राज्य सरकार द्वारा निर्देशित नियमों का पालन कराने व व्यवस्था के लिए सैनिक सिक्योरिटी के कर्मचारी जगह-जगह मुस्तैद होकर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं। कर्मचारियों की मेहनत व प्रशंसनीय कार्यों को देखते हुए सैनिक सिक्योरिटी कंपनी के मालिक डॉ नाना गुरु भी अपने कर्मचारियों को उल्लेखनीय प्रोत्साहन दे रहे हैं। इस कंपनी की ओर से शहर की सड़कों पर कानून व्यवस्था के लिए तैनात करीब 500 पुलिस कर्मियों को उत्तम दर्जे का नाश्ता और भोजन की व्यवस्था की गई है। कर्मचारियों के परिजनों को भी कोरोना मुक्त रखने के लिए उचित कदम उठाए जा रहे हैं। सैनिक सिक्योरिटी के करीब 290 कर्मचारी क्वाइंटाईन सेंटर, सब्जी मंडी, मनपा के पंडित भीमसेन जोशी अस्पताल, मीरारोड के स्व. इंदिरागांधी अस्पताल आदि में अपनी सेवा दे रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button