HardoiUttar Pradesh

विधायक और एसडीएम के बीच छिड़ी जंग में भाजपा जिलाध्यक्ष भी कूदे

 

>> पाली में नामित सभासदों के शपथ ग्रहण में जिलाध्यक्ष और एसडीएम नहीं हुए एक दूसरे से मुखातिब
>> एसडीएम का आचरण अनुचित, उन पर होगी कार्यवाई – जिलाध्यक्ष

हरदोई ( अनुराग गुप्ता ) । विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू और एसडीएम मनोज कुमार सागर के बीच रार में भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्रा नीरज भी कूद पड़े। विधायक द्वारा एसडीएम पर भ्रष्टाचार के लगाए गए आरोपों के बाद दोनों के बीच की तल्ख़ी अब सार्वजनिक तौर पर भी सामने आने लगीं हैं। गुरुवार को पाली नगर में नामित सभासदों के शपथ ग्रहण में एसडीएम के शपथ ग्रहण कराने की जानकारी होने पर विधायक ने कार्यक्रम से दूरी बना ली। हालांकि जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्रा जरूर शरीक हुए लेकिन एसडीएम और उनके बीच भी यह तल्ख़ी साफ दिखी।

आपको बता दे कि सवायजपुर एसडीएम मनोज कुमार सागर की कार्यशैली से खफा विधायक रानू सिंह ने एसडीएम पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री से उनकी शिकायत भी की है। विधायक का आरोप हैं कि एसडीएम एक सहयोगी के माध्यम से बसूली कराते हैं । इसके अलावा विधायक ने शासन की मंशानुरूप कार्य न करने और लॉकडाउन में हरदोई से ही तहसील का संचालन करने का आरोप भी लगाया। विधायक द्वारा आईजीआरएस के माध्यम से सीएम योगी से शिकायत की गई। जिसके बाद सीडीओ निधि गुप्ता वत्स ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी बना कर एक सप्ताह में रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए । विधायक ने वुधवार को लखनऊ में सीएम ने सरकारी आवास पर भेंट कर एसडीएम की शिकायत की। विधायक श्री सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उन्हें उच्चस्तरीय जांच कर कार्यवाई का भरोसा दिलाया हैं।

वहीं गुरुवार को जब पाली नगर में नामित सभासदों को शपथ दिलाने एसडीएम मनोज सागर पहुंचे तो विधायक श्री सिंह ने इस कार्यक्रम से खुद को दूर कर लिया। आपको बता दे कि विधायक और सांसद के आने का कार्यक्रम पहले से ही तय था। लेकिन ऐन वक्त पर उनका कार्यक्रम निरस्त हो गया। इसके पीछे एसडीएम के मौजूद होने को बजह बताई जा रही हैं। विधायक और एसडीएम के बीच रार में भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्रा नीरज भी कूद पड़े। शपथ ग्रहण में पहुंचे जिलाध्यक्ष और एसडीएम के बीच न तो कोई अभिभादन हुआ और न ही कोई संवाद, तकरीबन 30 मिनट के कार्यक्रम में दोनों एक दूसरे से मुखातिब तक नहीं हुए। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष ने विधायक श्री सिंह का समर्थन करते हुए एसडीएम पर हमला बोला । जिलाध्यक्ष श्री मिश्रा ने कहा कि एसडीएम सागर का कार्य व्यवहार लोकसेवक के आचरण के विरुद्ध हैं, शासन की मंशा के विरुद्ध हैं, ऐसे लोकसेवक को अपने पद पर बने रहने का कोई हक नहीं है, हम शासन से बात करेंगे। जिलाध्यक्ष श्री मिश्रा ने कहा कि एसडीएम हटेंगे भी और वह जो व्यवहार कर रहे हैं उसके लिए उन्हें दंड भी मिलेगा। उन पर कार्यवाई भी होगी। जिलाध्यक्ष ने कहा कि वह स्वयं मुख्यमंत्री जी से मुलाकात कर एसडीएम पर कार्यवाई के लिए आग्रह करेंगे। वहीं एसडीएम श्री सागर का कहना हैं कि उनके ऊपर लगाए जा रहे तमाम आरोप पूरी तरह गलत हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button