Lakhimpur-khiri

ईसानगर में इंडियन मिनी बैंक चालक द्वारा लाखों की ठगी का आरोप

लखीमपुर-खीरी(एस.पी.तिवारी/रवि पाण्डेय)मिनी बैंक के संचालक द्वारा आए दिन बहुत सारी घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। सूत्रों के अनुसार से उसमें बैंक मैनेजर भी सम्मिलित है। खाता धारक पूजा पत्नी राजेंद्र 24000 रूपए एक साल पहले जमा किए थे जो उनके खाते में अभी तक नहीं जमा हुआ था। रागिनी देवी पत्नी राजेंद्र 43300 रूपये जमा किए थे जो उनके खाते में नहीं दिखाई पड़ रहा था। यह लोग जब अपने खाते का पैसा निकलवाने गए खाते में पैसा नहीं मिला।
बैंक मैनेजर से जाकर मिले तो बैंक मैनेजर ने कहा थोड़ा इंतजार करो पैसा भी डलवा देंगे। मिनी बैंक के कर्मचारी से जब बात की तो उसने पैसा तो डलवा दिया।जब इन लोगों ने विरोध किया उसके ऊपर दबाव बनाकर सुलहनामा लिखवा लिया।
आए दिन इस प्रकार की सिसैया चौराहा पर गरीबों के साथ बी.सी मालिक दो बार अंगूठा लगवा कर रोडपति से करोड़पति बनना चाहते हैं।
सेटिंग गेटिंग कर बीसी मालिक ने अपना सुलहनामा लिखवा लिया है। देखना यह है शासन-प्रशासन कब तक नहीं करता कार्रवाई। अगर शासन प्रशासन कार्रवाई नहीं करता है तो आए दिन किसी को भी ठग सकते हैं। यह लोग मिनी बैंक के नाम पर करोड़ों रुपए कमा रहे हैं। जिनके पास कल खाने को खाना नहीं था आज वह फोर व्हीलर से चल रहे हैं। उनकी औकात बहुत आगे हो चुकी है अगर उनसे बात करो तो सिर्फ सेटिंग की बात करते हैं। देखते हैं इंडियन बैंक मैनेजर सिसैया चौराहा कोई कार्यवाही करते हैं या सम्मिलित होकर ठंडे बस्ते में डाल देते हैं।
अगर यह कार्रवाई नहीं हुई तो पत्रकार संघ आगे तक कार्रवाई करने के लिए बढ़ेगा। बैंक ने अपनी चोरी के सबूत भी दिए हैं की मिनी बैंक वाले ने चोरी भी की है। स्टेटमेंट वह बैंक का लिखित दोनों चीजें संवाददाता के पास उपलब्ध हैं। जिन महिलाओं के साथ यह ठगी हुई है कुछ छुटभैय्ए नेताओं द्वारा धमकी देकर व उन पर दबाव बनाकर सुलहनामा लिखवा लिया गया है। लेकिन देखना यह है कि जो बैंक ने लिख दिया है इसके कागजात छुपाकर कहां ले जाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button