Uttar Pradesh

योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण में पीएम नरेन्द्र मोदी सहित आएंगे देशभर के नेता

लखनऊ।उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की शानदार विजय के बाद नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह को भी यादगार बनाने की तैयारी है। होली के बाद 21 मार्च की तिथि प्रस्तावित है। इकाना स्टेडियम में होने जा रहे भव्य समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और गृहमंत्री अमित शाह, अन्य केंद्रीय मंत्री, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और देशभर के प्रमुख नेता शामिल होंगे। मंत्रिमंडल गठन पर निर्णय के लिए महत्वपूर्ण बैठक के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत प्रदेश भाजपा की कोर कमेटी बुधवार को दिल्ली जा रही है।2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद 19 मार्च को योगी सरकार ने राजधानी के रमाबाई आंबेडकर स्मृति उपवन के मैदान में शपथ ली थी। डेढ़ दशक बाद मिली उस जीत को लेकर भाजपा बहुत उत्साहित थी तो इस बार लगातार प्रदेश की सत्ता में वापसी के आनंद-उमंग में पार्टी डूबी है। इस बार 21 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित मंत्रिमंडल द्वारा शपथ लिया जाना प्रस्तावित है। शपथ ग्रहण समारोह के लिए शहीद पथ स्थित इकाना स्टेडियम को चुना गया है।प्रदेश स्तर पर पार्टी ने जातीय-क्षेत्रीय समीकरणों के हिसाब से मंत्रिमंडल गठन की रूपरेखा पर काफी काम कर लिया है। अब अंतिम निर्णय केंद्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श के बाद लिया जाना है। इसके लिए बुधवार सुबह सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डा. दिनेश शर्मा दिल्ली जा रहे हैं।वहां राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष, प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक होनी है। इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी शामिल हो सकते हैं। इसी बैठक में मंत्रिमंडल के गठन सहित शपथ ग्रहण समारोह की रूपरेखा पर अंतिम मुहर लग जाएगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ शपथ ग्रहण समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं को न्योता भी देंगे। लगभग तय है कि मोदी, नड्डा, राजनाथ, शाह, अन्य केंद्रीय मंत्री और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री इस समारोह में शामिल होंगे। एक संभावना यह भी है कि यदि 21 मार्च को पीएम का समय नहीं मिलता है तो तिथि में परिवर्तन किया जा सकता है।

घोषित होंगे एमएलसी प्रत्याशी : विधान परिषद (स्थानीय निकाय) के चुनाव की तैयारी भी भाजपा समानांतर कर रही है। 36 सीटों पर होने जा रहे इस चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया मंगलवार को शुरू हो गई। पहले चरण की तीस सीटों के नामांकन की अंतिम तिथि 19 मार्च है। इधर, 17 और 18 को होली का अवकाश है। इस तरह नामांकन के लिए बुधवार के अतिरिक्त एक दिन का समय प्रत्याशियों को मिलना है। भाजपा सभी जिलों से आए चार-पांच दावेदारों के पैनल पर प्रदेश कोर कमेटी की बैठक में विचार-मंथन कर नाम छांट चुकी है। लगभग तय है कि दूसरे दलों से छोड़कर आए नौ विधान परिषद सदस्यों को भी इस चुनाव में सत्ताधारी दल से टिकट दिया जाएगा। इसमें सपा छोड़कर आए आठ और बसपा से आए एक एमएलसी हैं। अन्य प्रत्याशियों के नाम क्षेत्रीय-जातीय समीकरणों को देखते हुए छांटे गए हैं। इन पर केंद्रीय नेतृत्व की स्वीकृति मिलने के बाद बुधवार को प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button