Uttar Pradesh

UP Board Paper Leak: यूपी बोर्ड 12वीं अंग्रेजी पेपर लीक केस में बलिया डीआईओएस और पत्रकार समेत 17 गिरफ्तार

लखनऊ(निर्वाण टाइम्स)।उत्तर प्रदेश में नकल कराने के लिए कुख्यात रहे बलिया जिले ने यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को फिर कलंकित कर दिया। बुधवार अपरान्ह दो बजे से होने वाला इंटरमीडिएट अंग्रेजी का प्रश्नपत्र परीक्षा से पहले ही इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। जांच में वायरल प्रश्नपत्र सही मिलने पर 24 जिलों की इंटर की अंग्रेजी की परीक्षा निरस्त कर दी गई।यूपी बोर्ड 12वीं अंग्रेजी पेपर लीक केस में बलिया के जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआइओएस) बृजेश कुमार मिश्र को निलंबित करके गिरफ्तार कर लिया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर एसटीएफ ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। बलिया पुलिस ने देर रात तक इस प्रकरण में डीआइओएस व एक स्थानीय पत्रकार समेत 17 लोगों को गिरफ्तार किया था। डीआइओएस और पत्रकार को जेल भेज दिया गया था जिन्हें रिमांड पर लेकर एसटीएफ पूछताछ कर रही थी।उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 24 मार्च से चल रही हैं। नकल पर अंकुश लगाने के लिए शासन और माध्यमिक शिक्षा विभाग ने बड़े पैमाने पर इंतजाम भी किए लेकिन, परीक्षा शुरू होने के छठे दिन ही इंटर अंग्रेजी का प्रश्नपत्र इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया।अफसरों के अनुसार बुधवार सुबह करीब दस बजे बलिया के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को द्वितीय पाली में होने वाले इंटर अंग्रेजी विषय सीरीज 316 ईडी व 316 ईआइ के प्रश्नपत्र मिले। उन्होंने शासन को अवगत कराकर वायरल प्रश्नपत्र जांच के लिए यूपी बोर्ड मुख्यालय पर भेजा। प्रश्नपत्रों के मिलान में वायरल पेपर सही निकले।अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने बताया कि इंटर अंग्रेजी के उक्त दोनों सीरीज के प्रश्नपत्रों से बलिया सहित 24 जिलों में दो बजे से इम्तिहान होना था। परीक्षा शुरू होने से करीब एक घंटे पहले ही इन जिलों के सभी परीक्षा केंद्रों की इंटर अंग्रेजी की परीक्षा निरस्त कर दी गई। शेष 51 जिलों में विधिवत परीक्षा कराई गई।अपर मुख्य सचिव शुक्ला ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। बलिया के जिला विद्यालय निरीक्षक बृजेश कुमार मिश्र को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। एसटीएफ को प्रकरण की जांच के आदेश दिए गए हैं। इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध रासुका तक की कार्रवाई होगी।उधर, बलिया पुलिस ने बताया कि इस मामले में डीआइओएस ब्रजेश मिश्र के साथ ही एक स्थानीय पत्रकार अजीत कुमार ओझा व 15 अन्य लोगों को अलग-अलग थानों से गिरफ्तार किया गया है।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि यह भी निर्देश हैं कि किसी भी परीक्षार्थी को परेशानी का सामना न करना पड़े, सभी से अपील की गई है कि वे संयम बनाए रखें। सभी 24 जिलों में अंग्रेजी की परीक्षा देने बड़ी संख्या में परीक्षार्थी पहुंच गए थे। कुछ देर बाद उन्हें निराश होकर लौटना पड़ा।माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाब देवी बुधवार को माध्यमिक शिक्षा निदेशालय पहुंची। वहां राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम का निरीक्षण करने के बाद पेपर लीक प्रकरण पर अफसरों के साथ आपात बैठक की। नवनियुक्त मंत्री ने कहा कि जांच के बाद पेपर लीक कराने वालों पर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि इमरजेंसी मीटिंग की गई है, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button