Basti

अखिल भारतीय किसान सभा के तीन दिवसीय “राष्ट्र्पति को पत्र भेजो” के राष्ट्रीय अभियान

बस्ती(रुबल कमलापुरी)। किसानों की समस्याओं, संकटों के सवालो को लेकरअखिल भारतीय किसान सभा के तीन दिवसीय “राष्ट्र्पति को पत्र भेजो” के राष्ट्रीय अभियान के क्रम में जनपद की किसान सभा की इकाई ने 100 से ज्यादा पत्र मेल के माध्यम से अभी तक भेज चुकी है। 20 जून से चल रहे आंदोलन की समाप्ति 23 जून को होगी। प्रेस को जानकारी देते हुए किसान सभा बस्ती के अध्यक्ष हरिभावन सिंह ने कहा कि कृषि क्षेत्र के निगमी करण के प्रयास बंद होने चाहिए, फसलों के सी 2 आधार पर ड्योढ़ा मूल्य दिलाया जाय। किसान नेता राम गढ़ी चौधरी ने कहा कि माननीय राष्ट्रपति महोदय को को लेकर ई मेल के जरिये पत्र जनपद के किसानों द्वारा दिया जा रहा है कार्यक्रम 23 जून तक चलाया जाएगा। सभी 23 करोड़ गैर करदाता परिवारों को छह महीने के लिए आय सहायता के रूप में 7500 रुपये प्रति माह प्रदान करें। सभी को प्रति व्यक्ति प्रति माह छह महीनों तक 10 किलोग्राम मुफ्त खाद्यान्न दिया जाए। सभी कोविद .19 पीड़ितों को स्वास्थ्य सुरक्षा और मुफ्त इलाज सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी उपाय करें। सी2+ 50%, लागत से डेढ़ गुणा के हिसाब से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सभी फसलों की गारंटीकृत खरीद सुनिश्चित करने के लिए कानून बनाया जाए और सभी कर्ज़ में दबें किसानों व खेत मजदूर परिवारों को समाहित करते हुए व्यापक कर्ज़ा माफी की जाए। सभी खेत मजदूरों के लिए न्यूनतम मजदूरी 600 रुपये प्रति दिन के हिसाब से वर्ष में 200 दिन का रोजगार प्रदान करें। आवश्यक वस्तु,कृषि व्यापार, बिजली अधिनियम और श्रम कानूनों पर तीन अध्यादेशों एवं कार्यकारी आदेशों को वापस लिए जाए आदि को लेकर ई मेल के जरिये पत्र जनपद के किसानों द्वारा दिया जा रहा है कार्यक्रम 23 जून तक चलाया जाएगा। किसान सभा के संयुक्त मंत्री सुरेंद्र मोहन शर्मा, विजय चौधरी ने राष्ट्र्पति अनुरोध करते हुुुए कहा है कि कृपया इस असामान्य संकट की अवधि में राहत सुनिश्चित करें। यदि सरकार तेजी से कार्रवाई करने में विफल रहती है, तो अखिल भारतीय किसान सभा के पास इन मांगों को प्राप्त करने के लिए अन्य सभी किसान संगठनो और ट्रेड यूनियनों के साथ मिल कर अथक संघर्षों छेड़ने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं रहेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button