Gorakhpurसराहनीय कार्य

उड़ीसा व दोहरीघाट कि मंदबुद्धि महिला को स्वस्थ होने के बाद परिजनों को किया गया सुपुर्द,

उड़ीसा व दोहरीघाट कि मंदबुद्धि महिला को स्वस्थ होने के बाद परिजनों को किया गया सुपुर्द,

गोरखपुर।मातृ छाया चैरिटेबल फाउंडेशन द्वारा संचालित बैंक रोड असहाय गरीब जो वर्षों से 16 असहाय गरीब मंदबुद्धि रह रही थी उनमें से दो मंदबुद्धि पूर्ण रूप से स्वस्थ हो गई गीता पुत्री चितरंजन ग्राम उलीडीह जनपद मयूरभंज उड़ीसा और मंदिरी पुत्री हीरा निवासी चकभगवानदास दोहरीघाट मउ अपने भाई राम नैन के साथ राजी खुशी के साथ धर गयी। घर जाने से पहले गीता और मंदिरी द्वारा केक काटकर राजू सामान के साथ दोनों महिलाओं की विदाई की गयी। क्षेत्राधिकारी चौरी चौरा रचना मिश्रा ने बताया कि मातृछाया जडूअल फाउंडेशन द्वारा अनाथ मंदबुद्धि लोगों को संस्थान में रखकर पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के बाद परिजनों को सुपुर्द कर जो मानवता का मिसाल पेश कर रही है संस्थान के डायरेक्टर आलोक मणि त्रिपाठी सहित अन्य कर्मचारी धन्यवाद के पात्र हैं इस मौके पर डीआरडीए प्रोजेक्ट डायरेक्टर राम सिंह भी मौजूद रहे।
मातृछाया चैरिटेबल फाउंडेशन बैंक रोड गोरखपुर के डायरेक्टर आलोक मणि त्रिपाठी उनके सहयोगी स्वेता मिश्रा व सुभी के देख रेख में अनाथ मंदबुद्धि को रखा जाता है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button