Basti

विद्युत विभाग के निर्माण कार्यो की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने जताया नाराजगी

 

बस्ती(रुबल कमलापुरी)। विद्युत विभाग के निर्माण कार्यो की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने असंतोष व्यक्त किया है। कलेक्टेट सभागार में आयोजित इसकी समीक्षा बैठक में उन्होने अधीक्षण अभियन्ता आरवी कटियार को निर्देश दिया है कि लापरवाही बरतने वाली कार्यदायी संस्थाओं की रिपोर्ट एक सप्ताह में प्रस्तुत करें। समीक्षा में उन्होने पाया कि लार्सन एण्ड टुब्ब्रो (एल एण्ड टी) द्वारा अभी सौभाग्य योजना के प्रथम चरण का कार्य ही पूरा नही किया गया है, जो की सितम्बर 2019 में पूरा होना था। इसके अन्तर्गत 03.50 ट्रान्सफार्मर लगाया जाना था अभी तक 227 लगाये गये है। 70 किमी0 एचटी लाईन लगाना था, 43 किमी0 ही लगा पाये है। एल एण्ड टी के मैनेजर मिथिलेश वर्मा ने बताया कि सामाग्री की कोई कमी नही है, पोल लगाने का काम पूरा कर लिया गया है। काम विलम्ब से शुरू हुआ इसलिए समय से पूरा नही हो सका। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि अवर अभियन्ताओं के माध्यम से कार्य का सत्यापन कराये तथा रिपोर्ट प्रस्तुत करें। सौभाग्य योजना का द्वितीय चरण सितम्बर 19 से शुरू हुआ है। एल एण्ड टी के मैनेजर ने बताया कि इसके अन्तर्गत 1699 ट्रान्सफार्मर लगाया गया है। 27392 परिवारों को विद्युत कनेक्शन दिया गया है। 5311 मजरों का विद्युतीकरण करने का लक्ष्य है। इसका काम चल रहा है।
विद्युत विभाग के निर्माण कार्यो की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने जताया असंतोष जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि एक अन्य कार्यदायी संस्था एनसीसी द्वारा दो नये सबस्टेशन तथा 02 उप केन्द्रों का क्षमता वृद्धि करने का कार्य किया जा रहा है परन्तु अभी 60 प्रतिशत कार्य हो पाया है। गोटवा में उप केन्द्र बना है परन्तु यहाॅ सड़क का विवाद है। जिलाधिकारी ने संबंधित एसडीएम तथा सीओ को मौके पर जाकर विवाद निस्तारण का निर्देश दिया है। 400 केवी भोखडी विद्युत उपकेन्द्र का भी कार्य धीमा है। इसे 09 अप्रैल 20 को पूरा होना था। जिलाधिकारी ने विलम्ब के लिए कार्यदायी संस्था पर जुर्माना लगाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि दोनों कार्यदायी संस्थाओं के गोदाम में उपलब्ध सामान तथा उसकी गुणवत्ता का सहायक अभियन्ताओं से सत्यापन कराये। बैठक में अधीक्षण अभियन्ता ट्रान्समिशन वेदप्रकाश, एनसीसी संस्था के प्यूष कुमार एवं अन्य अभियन्तागण उपस्थित रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button