Lakhimpur-khiri

शहर में फर्जी अस्पताल का बोल-बाला,बगैर पंजीकरण व मानक विहीन संचालित हो रहा न्यू लाइफ हास्पिटल,झोलाछाप डाक्टरों द्वारा कराया जा रहा गर्भपात व प्रसव

 

नित्यानंद बाजपेयी/कमल वर्मा

लखीमपुर-खीरी।जिले में सीएमओ कार्यालय एवं प्राइवेट क्लीनिक व नर्सिग होमों की निगरानी को नामित नोडल अधिकारी के रहमों करम पर शहर के गोला रोड स्थित दीन दयाल इंटर कॉलेज के सामने एक मानक विपरीत व बगैर पंजीकरण के संचालित न्यू लाइफ हास्पिटल धड़ल्ले से महिलाओं का गर्भपात व डिलीवरी केस कराकर अप्रशिक्षित तो द्वारा मरीजों का धन धर्म तो लूटा ही जा रहा है।साथ ही साथ महिला मरीजों की जान जोखिम मे डाली जा रही हैं वही सीएमओ कार्यालय अपना बधा हिस्सा लेकर मौन साधे सब कुछ देख रहे है।बताते चलें कि सरकार लोगों को सुलभ व सस्ती चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए पानी जैसा पैसा बहा रही है जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी अपने धनलोलुपता आचरण के चलते पूरे जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल होकर रह गई है और लोग झोलाछाप के पास इलाज कराने को विवश हो रहे हैं।जगह जगह कुकुरमुत्ते की तरह उगे नर्सिंग होम व क्लिनको मे बैठे झोलाछाप डाक्टर जनता की जेब पर खुलेआम डाका डाल कर मालामाल हो रहे हैं और मरीज उनकी प्रयोग शाला बनकर रह गये है।न्यू लाइफ हॉस्पिटल इनका ज्वलत उदाहरण है।यहा बतौर डाक्टर कार्य संलग्न मीना वर्मा अपने को बी यू एम एस डिग्री धारक बताती है।जबकि सूत्रों द्वारा मिली जानकारी को सत्य माने तो इनके पास कोई डिग्री नहीं है न ही कोई प्रशिक्षित स्टाफ ही इस नर्सिंग होम में है।एक तथाकथित पत्रकार द्वारा यह गोरख धंधा चलावाया जा रहा है जबकि इन जनाब के पास ना तो कोई अखबार है और ना ही कोई चैनल है उसके बावजूद भी यह तथाकथित महोदय “ना झंडा ना सीटी बने घूम रहे टीटी” की कहावत चरितार्थ करते देखे जा सकते हैं।आवेदक ने मीना वर्मा के बी यू एम एस डिग्री की जानकारी भारतीय युनानी चिकित्सा परिषद से सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 से सूचना चाही है। और मामले की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर ऑनलाइन व 1076 पर की है।अब देखना है इन महाशय व मीना वर्मा के गठजोड़ से चल रहे फर्जीवाड़े का अंत होता है या फिर ऐसे ही फर्जीवाड़ा जारी रहेगा।

वर्जन :
इस संबंध में जब नर्सिंग होम संचालिका मीना वर्मा व उनके पार्टनर मनोज बाजपेई से जानकारी चाही गई तोने बताया कि पंजीकरण के लिए फाइल तैयार कर सीएमओ आफिस में भेजी गई है फिलहाल अभी पंजीकृत नही है।

जब उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अश्र्वनी कुमार के मो नम्बर 9454455212 पर उनके पश्च की जानकारी करने का प्रयास किया गया तो उनके फोन न उठा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button