Uttar Pradesh

सीएम योगी बोले -जनता का विश्वास कभी भी अविश्वास में नहीं बदलना चाहिए

लखनऊ।मुख्यमंत्री के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल में मंगलवार को योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा सदस्यों को संबोधित किया। उत्तर प्रदेश विधानसभा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष सतीश महाना को उनकी कुर्सी पर आसीन कराने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में अपने दूसरे कार्यकाल के पहले संबोधन में विपक्षी दल के नेताओं के भी उत्तर प्रदेश को नया उत्तर प्रदेश बनाने में सहयोग की अपील की।
उत्तर प्रदेश विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें तो जनता के विश्वास पर हर कीमत पर खरा उतरना है। जनता का विश्वास कभी की अविश्वास में नहीं बदलना चाहिए। नकारात्मकता कभी भी जीवन में प्रगति नहीं कर सकती है। हमको तो यही पता है कि सकारात्मकता से ही प्रगति आगे बढ़ती है। जनता तो सदैव ही प्रगतिशील को चुनती है। हमको उत्तर प्रदेश के युवाओं तथा महिलाओं के बारे में अधिक सोचना है। उन्होंने कहा कि हमें अब युवाओं, आधी आबादी, किसानों, मजदूरों और दबे-कुचले लोगों के बारे में सोचना है, उनकी आवाज को आगे बढ़ाना है। हम तो प्रदेश की 25 करोड़ जनता का विकास करेंगे। उन्होंने कहा कि 17वीं विधानसभा में तो हमें सिर्फ तीन वर्ष ही काम करने का अवसर मिला। हमने सकारात्मकता से काम किया और उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ाया। उन्होंने कहा चुनाव के दौरान आरोप, प्रत्यारोप, आक्षेप सभी दलों ने किया, लेकिन हमने देखा कि जनता कभी नकारात्मक पक्ष को स्वीकार नहीं करती, जनता ने हमेशा सकारात्मक पक्ष को ही समर्थन दिया है। नकारात्मकता कभी लोकतंत्र का हित नहीं कर सकता है।उन्होंने कहा कि पूरे देश की नजर उत्तर प्रदेश के विधानसभा पर है। कोरोना संक्रमण काल में भी यह सदन नहीं रुका। इस सदन में जनहित में फैसले लिए गए हैं। विधानसभा में सतीश महाना जी का विधानसभा अध्यक्ष पद पर चुना जाना हमारे लिए खुशी और गौरव का पल है। इस प्रकार के महान अवसर को कभी भी चूकना नहीं चाहिए। आपके तो नाम में ही महाना लगा है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही सदन के सभी सदस्यों का अभिनंदन है। नव निर्वाचित सभी सदस्यों को बधाई।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सभी के लिए लोकतंत्र की मर्यादा को बनाए रखना जरूरी है। सत्ता तथा विपक्ष लोकतंत्र के दो पहिए हैं। हम एक और एक दो नहीं बल्कि 11 हैं। विधानसभा में सभी विधायक लोकतंत्र की गरिमा बनाए रखें। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के दो पहिये होते हैं- एक सत्ता पक्ष व दूसरा विपक्ष, ये दोनों मिलकर यूपी की 25 करोड़ की आबादी के सर्वांगीण विकास के लिए कार्य करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक और एक दो नहीं, 11 बनकर लोकतंत्र को मजबूत करते हैं। अब तो जन आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हमारे जनप्रतिनिधियों पर आमजनमानस ने विश्वास प्रकट किया, उस विश्वास को कभी अविश्वास में नहीं बदलने के कार्य करने होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button