Uttar Pradesh

लूट के मास्टरमाइंड ने कोर्ट में किया सरेंडर, हाथ मलती रह गई पुलिस

लखनऊ।मसूरी थाना क्षेत्र के गोविंदपुरम में 28 मार्च को हुई पेट्रोल पंप कर्मियों से 25 लाख रुपये की लूट मामले के जिस मास्टरमाइंड को पुलिस दो दिनों से तलाश रही थी उसने सात साल पुराने गोकशी के एक मामले में पुलिस को चकमा देते हुए बृहस्पतिवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। पुलिस ने उसकी जमानत कराने का पूरा प्रयास किया, लेकिन कोर्ट ने गोकशी के आरोपित और 25 लाख रुपये की लूट के संदिग्ध आरोपित को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। अब पुलिस संदिग्ध आरोपित को सबूतों के आधार पर इस केस में आरोपित बनाकर उसे पुलिस कस्टडी रिमांड (पीसीआर) पर लेने का प्रयास करेगी।पुलिस अधिकारियों का कहना है कि 25 लाख रुपये की लूट के मामले में वह साहिबाबाद निवासी आसिफ उर्फ राशिद को तलाश रहे थे। पुलिस को तमाम ऐसे क्लू हाथ लगे थे कि आसिफ ही इस लूटकांड का मास्टरमाइंड है। जिन्हें तस्दीक करने के लिए पुलिस आसिफ को पकड़कर पूछताछ करने वाली थी, लेकिन घटना के अगले दिन 29 मार्च को आसिफ एकाएक अपने मोबाइल को बंद कर घर से फरार हो गया। साथ ही आसिफ का पेट्रोल पंप पर राशिद के नाम से नौकरी करना और पूर्व में भी पेट्रोल पंप के लाकर से ढाई लाख रुपये चोरी करने समेत कई ऐसे क्लू पुलिस के हाथ लगे जिनसे पुलिस का शक उसपर गहराता चला गया।

पुलिस ने आसिफ का आपराधिक रिकार्ड खंगाला तो उसके खिलाफ पूर्व में भी लूट और गोवंश की हत्या के कई मामले दर्ज मिले। बृहस्पतिवार को वह अपने अधिवक्ताओं के साथ कोर्ट में सरेंडर करने के लिए पहुंच गया।

गोवंश की हत्या का मामला भी है दर्ज

आरोपित के खिलाफ था गोवंशी हत्या में गैरजमानती वारंटपुलिस का कहना है कि आसिफ 2017 में ही लूट के मामले में जेल जा चुका है। उसके खिलाफ गोवंश की हत्या का मामला भी दर्ज है। साहिबाबाद थाने में दर्ज ऐसे ही एक मामले में आसिफ के खिलाफ पिछले कुछ सालों से गैरजमानती वारंट जारी हो रहे थे।

पुलिस के प्रयास हुए फेल

गोवंश की हत्या के आरोपित आसिफ द्वारा कोर्ट में सरेंडर करने की सूचना मिलते ही पुलिस का अमला कोर्ट परिसर में पहुंच गया। यहां पुलिस ने अपने अधिवक्ताओं के माध्यम से आसिफ को घेरने की कोशिश की, लेकिन अधिवक्ताओं के आगे पुलिस के सारे प्रयास नाकाम हो गए। करीब 20 से 25 अधिवक्ता आसिफ को एसीजेएम-5 की कोर्ट में सरेंडर कराने में कामयाब हो गए।

25 लाख रुपये की लूट के मामले में कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पूछताछ और सबूतों के आधार पर अगर आसिफ आरोपित बनता है तो उसे पीसीआर पर लेकर आगे की पूछताछ की जाएगी। आसिफ को आरोपित बनाए जाने के पुलिस के पास पर्याप्त सबूत हैं।

– डा. ईरज राजा, एसपी देहात

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button