उन्नाव

मण्डलायुक्त व जिलाधिकारी ने किया जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण कार्यों का निरीक्षण

 

-मण्डलायुक्त व जिलाधिकारी ने किया तेलियाना तालाब का जीर्णोद्धार निरीक्षण

उन्नाव (गोलू यादव) मण्डलायुक्त लखनऊ मुकेश मेश्राम व जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 राजेश कुमार प्रजापति, कार्यदायी संस्था यू0पी0 प्रोजेक्ट्स कॉरपोरेशन लिमिटेड निर्माण इकाई-8 लखनऊ की परियोजना प्रबंधक के साथ राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान उन्नाव के जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण कार्य का संयुक्त निरीक्षण किया गया।निरीक्षण के दौरान मण्डलायुक्त द्वारा सम्बंधित को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहां गया कि कॉरिडोर में कोटा स्टोन लगाया जाए, स्टेयर के स्टेप पर कोटा स्टोन लगाया जाए, सिल लेविल तक प्लास्टर करते समय सिल रोधक कंपाउंड को मिलाकर प्लास्टर का कार्य कराया जाए, भवन के चारों ओर एकत्र मलबे को तत्काल हटाया जाए, सामने बने स्टोर रूम को बीच में किया जाए।तत्पश्चात् मंडलायुक्त एवं जिलाधिकारी द्वारा ग्राम पंचायत सराय कटियान विकासखंड बिछिया में बन रहे तेलनियां तालाब का जीर्णोद्धार एवं अन्य मनरेगा कार्यों/वृक्षारोपण का निरीक्षण किया। उन्होंने सम्बन्धित को निर्देशित करते हुये कहा तालाब के दक्षिणी साइड में बड़े आकार के पेड़ लगावायें। तालाब तक आने जाने का रास्ता नहीं है इसके तहत संबंधित उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि पैमाइश करा कर चकरोड का निर्माण कराएं।जिलाधिकारी ने सम्बन्धित खंड विकास अधिकारी को तालाब की गहराई और कराने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि तालाब सीढ़ी नुमा प्राॅपर स्लोप के साथ बनाया जाए।मंडलायुक्त ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि मत्स्य पालन अधिकारी से बात करके तालाब किसी मछली पालने वाले व्यक्ति को आवंटित कराया जाए। मंडलायुक्त द्वारा ग्राम पंचायत में कोविड-19 निगरानी समिति के सदस्यों आशा कार्यकत्री, आगनबाड़ी कार्यकत्री, ग्राम प्रधान, सचिव, सफाई कर्मी को निर्देशित किया गया कि बाहर से आने वाले सभी प्रवासियों को मनरेगा योजना से जोड़ा जाए। उन्हें अवगत कराया गया कि गांव में 112 लोग बाहर से आए हैं जिनमें से 32 लोग घरों के अंदर होम क्वारेंटाइन है उनके संबंध में निर्देश सम्बन्धित को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये मंडलायुक्त ने कहा कि होम क्वारेंटाइन प्रवासियों कि नियमित जांच करवायें, गांव में सभी लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया जाये, साथ ही यह भी निर्देशित किया कि लोग सस्ते दर पर स्वयं सहायता समूह के द्वारा निर्मित अच्छी क्वालिटी के मास्क खरीद सकते हैं। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग तथा बार-बार साबुन से हाथ, पैर धोने के लिए बताया गया और निर्देशित किया गया कि गांव में समय-समय पर कीटाणु शोधन कराया जाना चाहिए। उन्होंने गांव वालों से अपील की कि स्वदेशी एवं स्वास्थ्य वर्धक चीजों के साथ जीने की आदत डालें। सोल्डर स्पेयर से निरन्तर दवाई का छिड़काव करें, बिना मास्क लगाये घरों से बाहर से न निकलें। उन्होंने आशाओं को निर्देशित करते हुये कहा कि 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे, 65 वर्ष से ऊपर के वृद्ध, गर्भवती महिलायें, जिनको पहले से ही कोई बीमारी (शुगर, टी0वी0, लीवर खराब होना आदि से सम्बन्धित बिमारी हो तो ) उनकी पल्स आॅक्सीमीटर द्वारा निरन्तर जांच कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को सर दर्द, बदन दर्द, बुखार, सूखी खांसी आदि लक्षण हैं तो तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सम्पर्क कर उनका हेल्थ चेकअप करायें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button