Sultanpur

बेसिक महकमे का हाल! अब बतावा चौकीदार के जिम्मेदार

जनसूचना से खुली एओ बेसिक शिक्षा की पोल

क्रमबद्धता को तोड़ कर किया अवशिष्ट भुगतान

शिक्षक संघ ने की जिलाधिकारी से निष्पक्ष जांच कराने की मांग

सुल्तानपुर(विनोद पाठक)। वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों के अवशिष्ट भुगतान का मामला गरमाता चला जा रहा है। प्रतापपुर कमैचा निवासी विनय कुमार ग्राम सेमरी कला पोस्ट खानपुर सुल्तानपुर ने खण्ड शिक्षा अधिकारी प्रतापपुर कमैचा से जनसूचना अधिकारी अधिनियम के अंतर्गत चार विंदुओ की जनसूचना मांगी थी कि जिसमें से एक विंदु यह था कि वित्तीय वर्ष 2021-22में वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा के कार्यालय में प्राप्त कराए गए शिक्षकों के अवशिष्ट भुगतान की पत्रावलियों की रिसिविंग की छायाप्रति भी थी। खण्ड शिक्षा अधिकारी प्रतापपुर कमैचा के कार्यालय पत्रांक बीआरसी पीपीके /22 / वेतन अवशिष्ट 2021-22 दिनांक 26 -07-21 के क्रम में 7 पत्रावली प्रेषित की गई जिसमें से सभी का अवशिष्ट बकाया एक ही जैसा था। उसमें से संतोष कुमार जयसवाल का ही पेमेंट किया गया। अन्य का अवशिष्ट भुगतान नहीं किया गया। इसी तरह पत्रांक बीआरसी पीपीके/ 98/ वेतन अवशिष्ट 2021-22 दिनांक 15-11-21के अंतर्गत 14 पत्रावली वित्त एवं लेखा अधिकारी कार्यालय को प्रेषित की गई। जिसमें से तीन का अवशिष्ट भुगतान किया गया। 11 का रोक लिया गया। इसी तरह पत्रांक बीआरसी पीपी के / 29 वेतन अवशिष्ट भुगतान 2021-22 2021 दिनांक 5 -8-21 के अंतर्गत 16 पत्रावली प्रेषित की गई। जिसमें से 4 का पेमेंट रोक लिया गया। ऐसे इसी विकास क्षेत्र के और उदाहरण हैं। यह उदाहरण केवल एक विकासखंड का है। इसी तरह अन्य विकास क्षेत्र में भी ऐसी ही स्थिति है। जिससे यह स्पष्ट होता है कि जिसका चाहा उसका भुगतान किया, जिसका नहीं चाहा भुगतान नहीं किया। इससे यह परिलक्षित होता है कि वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा द्वारा मनमानी ढ़ंग व स्वेच्छाचारिता से भुगतान किया गया जो अनियमितता का द्योतक है। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ सुल्तानपुर जिलाधिकारी सुलतानपुर से निष्पक्ष जांच कराने की मांग करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button