Sultanpur

प्रथम जयंती पर सपाइयों को खूब याद आए नेताजी

चित्र पर माल्यार्पण कर सपाइयों ने दी श्रद्धांजलि

नेताजी की याद में जिला अस्पताल के मरीजों में बांटे गए फल

नेताजी के सिद्धांतों एवं पद चिन्हों पर चलकर पार्टी को मजबूत करने का लिया गया संकल्प

सुलतानपुर(विनोद पाठक)।धरतीपुत्र नेता मुलायम सिंह यादव की जयंती सपाइयों ने सपा जिला अध्यक्ष पृथ्वीपाल यादव एवं जिला महासचिव सलाहुद्दीन के संयोजन में धूमधाम से मनाई गई। नेताजी के चित्र माल्यार्पण कर सपाइयों ने सच्ची श्रद्धांजलि दी। नेताजी की याद में जिला अस्पताल एवं महिला अस्पताल में बड़ी संख्या में मरीजों में फल वितरित किया गया। बाद में पार्टी कार्यालय पर संगोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें वक्ताओं ने “नेताजी” के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। साथ ही उनके पद चिन्हों और सिद्धांतों पर चलकर पार्टी को मजबूत करने का भी संकल्प सपाइयों ने लिया। वक्ताओं ने पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को एकजुटता का पाठ भी पढ़ाया।
मंगलवार को नेता मुलायम सिंह यादव की जयंती नगर स्थित सुपरमार्केट सपा कार्यालय पर जिला अध्यक्ष पृथ्वीपाल यादव एवं जिला महासचिव सलाउद्दीन के संयोजन में धूमधाम से मनाई गई। “नेताजी” के चित्र पर सपाइयों ने श्रद्धा सुमन अर्पित कर सच्ची श्रद्धांजलि दी। जिला अस्पताल में बड़ी संख्या में सफाई पहुंचकर जिला पुरुष एवं जिला महिला अस्पताल में ढूंढ ढूंढ कर एक-एक मरीजों को फल वितरित किया। पार्टी कार्यालय पर आयोजित संगोष्ठी में वक्ताओं ने “नेताजी” के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। कोषाध्यक्ष सूर्यलाल यादव ने विस्तृत से नेता जी के जीवनी पर प्रकाश डाला। विधायक मोहम्मद ताहिर खान ने भी अपने वक्त में नेताजी के बारे में बताया। कहा कि मरीजों के लिए धन की कमी आड़े आने नहीं दूंगा। जिला अध्यक्ष पृथ्वीपाल यादव ने सारे वक्ताओं को अपने से संबध करते हुए ढेर सारी बातों का जिक्र किया और कहा कि नेताजी की सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी जब सारे सपाई एकजुट होकर आने वाले नगर पालिका, नगर पंचायत के चुनाव में जुट कर पार्टी प्रत्याशी को जिताने का काम करेंगे। निश्चित तौर पर नेताजी के बताए रास्ते और सिद्धांतों पर चलकर पार्टी को मजबूत किया जा सकता है। बशर्ते पदाधिकारी, कार्यकर्ता एकजुटता का संदेश दे। वक्ताओं में पूर्व जिला अध्यक्ष प्रो राम सहाय यादव, पूर्व विधायक भागेलू राम, पूर्व चेयरमैन नगर पालिका परिषद सैयद रहमान उर्फ मोनू भाई, वरिष्ठ नेता हाजी मकसूद आलम, हाजी हारून, विधानसभा अध्यक्ष स्वामीनाथ यादव, सुलतानपुर विधानसभा अध्यक्ष सैफई भाई आदि रहे। “नेताजी” की जयंती समारोह में जिला उपाध्यक्ष अशोक वर्मा, गौतम वर्मा, पूर्व लोकसभा प्रत्याशी शकील अहमद, वरिष्ठ नेता पप्पू रिजवान, शहजाद भाई, नगर अध्यक्ष राजू चौधरी, मोहर्रम अली, विनोद जयसवाल, पिछड़ा वर्ग जिला अध्यक्ष देवता दीन निषाद, सल्लू भाई, पूर्व प्रदेश सचिव युवजनसभा बृजेश यादव, पंकज यादव,गुलाब जायसवाल,विनोद गौतम, जिला पंचायत सदस्य रंजीत यादव सोनू भाई, शेष मिश्रा आदि रहे।

नेताजी” की प्रथम जयंती धूमधाम से मनाई गई। पर, “नेताजी” की नीतियों एवं सिद्धांतों की दुहाई देने वाले बहुतेरे नेता कार्यक्रम में शिरकत करने से अपने को अलग रखा। ऐसे नेता हैं जो अपने आपको जिले से लेकर प्रदेश तक बड़े नेताओं में शुमार कराते हैं। किन कारणों से, क्या वजह रही कि वर्तमान विधायक एवं एक पूर्व विधायक को छोड़कर कोई भी पूर्व विधायक “नेताजी” की प्रथम जयंती जो पार्टी कार्यालय पर मनाई गई हिस्सेदारी नहीं किया। यहां तक की फ्रंटल संगठन के तमाम नेता भी “नेताजी” की जयंती के कार्यक्रम में पहुंचने से परहेज रखा। हालांकि जिला अध्यक्ष पृथ्वीपाल यादव ने बताया कि अधिकांश नेता मैनपुरी में हो रहे उपचुनाव में पार्टी का सहयोग करने के लिए गए हैं। ऐसा बयान देकर बचाव में जिला अध्यक्ष उतरे तो जरूर लेकिन ढेर सारे नेता सुलतानपुर में टहलते भी देखे गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button