Sultanpur

लंभुआ की मासिक बैठक में छाया रहा क्षेत्र से सपा के जीत का मुद्दा

वक्ताओं ने कहा कि पार्टी की नीतियों को कार्यकर्ता जन-जन तक पहुंचाएं

सपाही ब्राह्मण की सच्ची हितैषी पार्टी:डॉ जितेंद्र प्रसाद मिश्र

लंभुआ सुलतानपुर(संवाददाता)।समाजवादी पार्टी लंभुआ विधानसभा की मासिक बैठक में क्षेत्र से सपा को जिताने का मुद्दा छाया रहा। वक्ताओं ने कहा कि जब तक क्षेत्र से सपा का विधायक नहीं बनेगा, सूबे में सरकार नहीं बन सकती। इसलिए क्षेत्र के सपा को जिताने के लिए अभी से ही पदाधिकारी, कार्यकर्ता लग जाए। सत्तारूढ़ पार्टी की नाकामियों को जनता के बीच बताएं। साथ में सपा द्वारा किए गए कार्यों को भी जनता को अवगत कराएं। जिससे आने वाले समय में उत्तर प्रदेश की कुर्सी पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को बैठाया जा सके।
गौरतलब हो कि बुधवार को लंभुआ विधानसभा क्षेत्र में सपा की मासिक बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष पृथ्वीपाल यादव ने किया। बैठक का आयोजन विधानसभा अध्यक्ष नन्हे राम निषाद ने किया। मासिक बैठक में क्षेत्र से सपा को जिताने का मुद्दा छाया रहा। जिला अध्यक्ष पृथ्वीपाल यादव ने सभी पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया कि पार्टी की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाएं, जिससे क्षेत्र में पार्टी मजबूत हो सके। शिक्षक सभा के प्रदेश सचिव एवं लंभुआ विधानसभा क्षेत्र के प्रबल टिकट के दावेदार डॉ जीतेंद्र प्रसाद मिश्र पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को जीत के मंत्र बताएं। कहा कि चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो, या फिर स्वास्थ्य क्षेत्र हर मामले में भाजपा सरकार की नाकामियों उजागर हुई है। बेरोजगार रोजगार ढूंढ रहा है तो आम जनता कमरतोड़ महंगाई से ऊब चुकी है। मौका बहुत अच्छा है, पदाधिकारी कार्यकर्ता क्षेत्र में लग जाए, निश्चित तौर पर आने वाले समय में उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बनेगी। जिस दिन उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बन गई, प्रदेश में खुशहाली आएगी। बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा, साथ में महंगाई पर लगाम भी लगेगा। डॉ जितेंद्र प्रसाद मिश्र ने कहा कि ब्राह्मण समाज इस बार सपा के साथ आ रहा है, निश्चित तौर पर सपा की ही सरकार सूबे में बनने जा रही है। ब्राह्मणों की सबसे हितैषी पार्टी सपा ही है। जब जब सूबे में सरकार बनी ब्राह्मण समाज के लिए सपा ने बहुत तेरे काम किए हैं, जिसे गिनाया नहीं जा सकता है। इस मौके पर बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button