National

पीएम मोदी ने कहा -फ्रंट लाइन वर्करों को प्रिकाशनरी डोज, 15 साल से ऊपर के किशोरों को लगेगी वैक्‍सीन

नई दिल्ली(आरएनएस)।कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित करते हुए बड़ा एलान किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अब 15 से 18 साल के किशोरों को भी कोविड रोधी वैक्‍सीन लगाई जाएगी। गौरतलब है कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया (DGCI) ने आज ही भारत बायोटेक की 12 साल से ऊपर के बच्चों के लिए टीके को मंजूरी दी है। साथ पीएम मोदी ने कहा कि स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंट लाइन वर्करों को वैक्सीन की प्रिकाशनरी डोज लगाई जाएगी। इसकी शुरुआत 10 जनवरी से होगी।पीएम मोदी ने अपने संबोधन में देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि ओमिक्रोन से पैनिक करने की जरुरत नहीं है। उन्होंने कहा कि आप सभी को क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनाएं। हम 2021 के अंतिम सप्ताह में हैं। 2022 आने ही वाला है। आज दुनिया के कई देशों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से संक्रमित होने का पता चला है। आप सभी से आवेदन है कि पैनिक न करें। सावधान रहें सतर्क रहें।

कोरोना वारियर्स, हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्रिकाशनरी डोज

पीएम मोदी ने कहा कि हम सबका अनुभव है कि जो कोरोना वारियर्स हैं, हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, इस लड़ाई में देश को सुरक्षित रखने में उनका बहुत बड़ा योगदान है। वो आज भी कोरोना के मरीजों की सेवा में अपना बहुत समय बिताते हैं। इसलिए एहतियात की दृष्टि से सरकार ने निर्णय लिया है कि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की प्रिकाशन डोज देना शुरू किया जाएगा।

60 वर्ष से ऊपर के गंभीर रोग से ग्रस्त लोगों के लिए भी प्रिकाशनरी डोज

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 60 वर्ष से ऊपर की आयु के कोमोरबिडिटी वाले नागरिकों के लिए भी डाक्टर की सलाह पर वैक्सीन की प्रिकाशनरी डोज का विकल्प उपलब्ध होगा। ये भी 10 जनवरी से उपलब्ध होगा।

15 साल से 18 साल की आयु के बीच के बच्चों का टीकाकरण

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि कहा कि 15 साल से 18 साल की आयु के बीच के जो बच्चे हैं, अब उनके लिए देश में वैक्सीनेशन प्रारंभ होगा। 2022 में 3 जनवरी को सोमवार के दिन से इसकी शुरुआत की जाएगी।

61 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या को वैक्सीन की दोनों डोज लगी

पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत की वयस्क जनसंख्या में से 61 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है। इसी तरह, वयस्क जनसंख्या में से लगभग 90 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की एक डोज लगाई जा चुकी है।

भारत 141 करोड़ वैक्सीन डोज के अभूतपूर्व लक्ष्य को पार कर चुका है

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि भारत ने इस साल 16 जनवरी से अपने नागरिकों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया था। ये देश के सभी नागरिकों का सामूहिक प्रयास और सामूहिक इच्छाशक्ति है कि आज भारत 141 करोड़ वैक्सीन डोज के अभूतपूर्व और बहुत मुश्किल लक्ष्य को पार कर चुका है।

कोरोना से मुकाबले का हथियार

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशानिर्देशों का पालन करना कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है और दूसरा हथियार है वैक्सिनेशन।

सावधान और सतर्क रहें

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में भी कई लोगों के ओमिक्रोन से संक्रमित होने का पता चला है। मैं आप सभी से आग्रह करूंगा कि पैनिक नहीं करें सावधान और सतर्क रहें। मास्क और हाथों को थोड़ी-थोड़ी देर पर धुलना, इन बातों को याद रखें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button