Deoria

कालाबन ग्राम प्रधान ने बदल दी गाँव की सूरत

 

दो बार मिल चुका है सीएम प्रोत्साहन राशि और प्रशस्ति पत्र

ए.के सिंह

देवरिया सदर। गौरीबाजार ब्लाक का क्षेत्रफल में सबसे बड़ा गाँव कालाबन के वर्तमान प्रधान गाँव की सूरत बदलने में जी-जान से जुटे हैं। उनके उत्कृष्ठ कार्यों की बदौलत वर्ष 2018-19 और वर्ष 2019-20 में लगातार दो बार मुख्यमंत्री प्रोत्साहन राशि सहित पंचायती राज विभाग की ओर से प्रशस्ति पत्र मिल चुका है।
पहली बार 2015 ग्राम पंचायत चुनाव जितने के बाद रामबदन यादव ग्राम प्रधान बने। मैट्रिक पास रामबदन कालाबन को विकास की पटरी पर ला दिया। 8 किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैले 52 टोले का यह गाँव मिनी विधानसभा से कम नही है। लगभग 7 हजार आबादी वाले इस गाँव को थोड़े वक्त में ही पूरे ब्लाक ही नही जिले में अपने विकास के बदौलत इस गाँव को विकासशील गाँव के रुप में स्थापित कर दिखाया। इस ग्राम पंचायत में एक अन्त्यस्थि स्थल, चार आंगनबाड़ी केंद्र, कायाकल्प योजना के तहत गाँव के प्राईमरी व जूनियर विद्यालय के की मरम्मत, बाउंड्री का निर्माण, गौशाला का निर्माण, गाँव में सड़को का निर्माण, सड़को की इंटर लॉकिंग, आरसीसी, पक्की नाली सहित अन्य का निर्माण करवाये। इस गांव में लगभग 700 शौचालय का निर्माण हो चुका है। ग्राम पंचायत में विकास योजनाओं को अमली जामा पहनाने में इनके सराहनीय कदम की बदौलत पंचायती राज विभाग की तरफ से एक बार प्रशस्ति पत्र मिल चुका है। वही मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना 2018-19 व 2019-20 में सम्मानित हो चुके है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button